शेयर बाजार में Sensex और Nifty 50 क्या होता है? Share Market में ट्रेड कैसे करें ::पूरी जानकारी हिंदी में

अगर आपने भी अभी अपना डिमैट अकाउंट खुलवाया है और आप सोच रहे हैं कि Nifty aur Sensex kya hota in Hindi या फिर निफ्टी और सेंसेक्स में ट्रेड कैसे करते हैं तो यह आर्टिकल आपके लिए है जिसमें हम आपको बताएंगे कि सेंसेक्स और निफ्टी फिफ्टी क्या होता है और भी बहुत सी जानकारी जो आपको मदद कर सकते हैं स्टॉक मार्केट में इन्वेस्टमेंट करने में तो सबसे पहले ।

तो सबसे पहले हम आपको बता दें कि भारत में कुल 23 स्टॉक एक्चेंजेज है लेकिन उनमें से सिर्फ हमारे काम के दो हैं उनमें से एक है नेशनल स्टॉक एक्सचेंज और दूसरा है बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज और बाकी के 21 रीजनल लेवल के स्टॉक एक्चेंजेज है तो फिर निफ्टी और सेंसेक्स क्या होता है ।

शेयर बाजार में Sensex और Nifty 50 क्या होता है?

आसान भाषा में निफ्टी और सेंसेक्स Indexes है या फिर सूचक सूचकांक जो बताते हैं नेशनल लेवल स्टॉक एक्सचेंज और मुंबई स्टॉक एक्सचेंज की पूरी मार्केट का लेखा-जोखा की मार्केट किस तरफ जा रही है।

Nifty क्या है?

Nifty 50 शब्द नेशनल स्टॉक एक्सचेंज 50 से लिया गया है जो कि एक इंडेक्स है नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का जो कि index या सूचकांक है भारत की 50 नेशनल स्टॉक एक्सचेंज में लिस्टेड कंपनियों का जो समय के साथ साथ भारत सरकार चेंज करती रहती है।
Nifty 50 को शुरू 1000 से किया गया था जो कि अब 2021 में 18000 पार कर चुकी है यह सूचकांक है 50 कंपनियों का जो की लिस्ट है National Stock Exchange पर।

Sensex क्या है?

जिस प्रकार Nifty 50 इंडेक्स है नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का उसी प्रकार सेंसेक्स है index मुंबई स्टॉक एक्सचेंज का। सेंसेक्स शब्द लिया गया है Sensitive index जोकि मुंबई स्टॉक एक्सचेंज में लिस्टेड 30 बड़ी कंपनियों के समूह को दर्शाता है यह भी समय के अनुसार अपनी कंपनियों का इसमें चेंज करता रहता है।

Nifty Aur Sensex में अंतर

नीचे कुछ प्वाइंट्स  हैं जिसमें बताया गया है कि  किस प्रकार Nifty 50, Sensex से अलग है।

  • Nifty 50 और Sensex दोनों ही स्टॉक मार्केट के सूचकांक हैं।
  • Nifty 50 सूचकांक है नेशनल स्टॉक एक्सचेंज(NSE) का जबकि Sensex सूचकांक है बॉन्बे स्टॉक एक्सचेंज (BSE) का।
  • Nifty 50 की फुल फॉर्म है नेशनल स्टॉक एक्सचेंज फिफ्टी जबकि सेंसेक्स की फुल फॉर्म है सेंसेटिव इंडेक्स।
  • Sensex में Volatility अधिक है और सेंसेक्स की तुलना में Nifty 50 Volatility कम है।
  • Sensex को ऑपरेट करने का काम है बंबई स्टॉक एक्सचेंज का जबकि Nifty 50 को ऑपरेट करने का काम है नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का।
  • Sensex की हाली वैल्यू है 50,000 से अधिक जबकि निफ्टी फिफ्टी की वैल्यू है 18000 से अधिक जब आर्टिकल लिखा गया है।
  • Sensex में मुंबई स्टॉक एक्सचेंज (BSE) में लिस्टेड भारत की टॉप 30 कंपनियों का इंडेक्स होता है जबकि Nifty 50 में नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (NSE) में लिस्टेड टॉप फिफ्टी कंपनी के समूह का सूचकांक होता है निफ्टी।
  • Nifty एक नया इंडेक्स है जबकि Sensex उसे काफी पुराना है।
  • निफ्टी 50 का बेस वैल्यू जब शुरू हुआ तो 1000 था जबकि सेंसेक्स के शुरू होने पर 100 था।

Nifty 50 और Sensex mein trade kaise karen

Nifty 50 में ट्रेड कैसे करें

अगर आप nifty 50 में ट्रेड करना चाहते हैं तो उसके दो उपाय हैं एक है आप nifty 50 का Future को buy\sell कर सकते हैं और दूसरा ऑप्शन है आपके पास Nifty 50 के ऑप्शन  Buy/Sell कर सकते हैं।

अगर आप भी Nifty 50 मैं ट्रेड करना चाहते हैं तो आपको दूसरे ऑप्शन को चुनना चाहिए जिसमें आप Nifty 50 में अलग-अलग स्ट्राइक प्राइस का कोई भी ऑप्शन खरीद या बेच सकते हैं अब Option में दो प्रकार के Option होते हैं पहला होता है Put Option दूसरा होता है Call Option।

जब आपको लगे कि Nifty 50 ऊपर जाने वाला है तब आप कॉल ऑप्शन को Buy कर सकते हैं या फिर पुट ऑप्शन को Sell कर सकते हैं ।
इसी प्रकार अगर आपको लगता है कि निफ़्टी फिफ्टी का प्राइस  नीचे जाने वाला है तो आप उस समय कॉल ऑप्शन Sell कर सकते हैं या फिर Put Option को बाय भी कर सकते हैं।

निफ्टी में व्यापार करने का दूसरा तरीका निफ्टी 50 का futures खरीदना और बेचना ।
इस प्रकार हम ने बताया कि आप 2 तरीके से निफ़्टी फिफ्टी में ट्रेड कर सकते हैं चलिए आप जानते हैं कि आप सही सेक्स में कैसे ट्रेड कर सकते हैं।

Sensex में ट्रेड कैसे करें

अगर आप सेंसेक्स में Trade करना चाहते हैं तो उसका कोई सीधा उपाय नहीं है आपको सेंसेक्स में लिस्टेड टॉप 30 कंपनियों में ही निवेश करना होगा ।

Leave a Comment

Your email address will not be published.